३००० बायो टॉयलेट इस साल सभी रेल गाड़ियों में


  • ३००० बायो टॉयलेट इस साल सभी रेल गाड़ियों में
    ३००० बायो टॉयलेट इस साल सभी रेल गाड़ियों में
    1 of 3 Photos
  • 3000 बायो टॉयलेट इस साल सभी रेल गाड़ियों में
    3000 बायो टॉयलेट इस साल सभी रेल गाड़ियों में
    1 of 3 Photos
  • 3000 बायो टॉयलेट इस साल सभी रेल गाड़ियों में..
    3000 बायो टॉयलेट इस साल सभी रेल गाड़ियों में..
    1 of 3 Photos

नागपुर : स्वच्छता अभियान के तहत देश का बायो टॉयलेट पहला प्लांट नागपुर में चल रहा है I जिसके लिए स्वच्छता के बारे में देश में रेेलवे का सहभाग भी महत्वपूर्ण है । नागपुर में रेलवे बायो टॉयलेट का निर्माण कर इस मुहिम को सफल बनाने में कदम बढ़ाया है। वैसे रेलवे विभाग ने वर्ष 2018 के आखिर तक सभी गाड़ियों में बायो-टॉयलेट लगाने का लक्ष्य रखा है। जिसको देखते हुए इस वर्ष नागपुर में 3000 बायो टॉयलेट का निर्माण किया जानेवाला है।

यह जानकारी मोतीबाग वर्कशॉप के मैनेजर पी.एस. खैरकर ने पत्रकारों को दी, मोतीबाग वर्कशॉप में बायो-टॉयलेट के निर्माण पर हुई पत्र-परिषद में वह बोल रहे थे । उन्होंने बताया कि बायो-टॉयलेट की संरचना और प्रक्रिया कुछ ऐसी होती है कि इसमें जमा होनेवाला मल बैक्टीरिया के माध्यम से पूरी तरह से खत्म किया जाता है। केवल पानी ही पटरियों पर निकलता है, जिससे गंदगी नहीं होती है। पुरानी शैली के शौचालयों में मल सीधे पटरियों पर बिखरता था और गंदगी बढ़ती जाती थी। बायो-टॉयलेट के कारण इस गंदगी से राहत मिली है। भारतीय रेलवे का बायो-टॉयलेट प्लांट नागपुर के मोतीबाग में है।

इसके अलावा देश में निजी तौर पर भी इसका निर्माण हो रहा है। गत वर्ष नागपुर में ढाई हजार टॉयलेट का निर्माण किया गया था। देश में विभिन्न रेलगाड़ियों में अब तक कुल 1483 टॉयलेट अभी तक लगाए गए हैं। 



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments

Other News Today