महिला की हत्या से हड़कम्प - नग्नावस्था में मेडिकल परिसर से शव बरामद


  • महिला की हत्या से हड़कम्प - नग्नावस्था में मेडिकल परिसर से शव बरामद
    महिला की हत्या से हड़कम्प - नग्नावस्था में मेडिकल परिसर से शव बरामद
    1 of 1 Photos

नागपुर :- शनिवार की सुबह मेडिकल परिसर में उस समय खलबली मच गई जब वार्ड नंबर 49 के पास झाडिय़ों में एक 35 से 40 वर्षीय महिला की नग्नावस्था में लाश मिली. शव के पास से पुलिस को एक गुलाबी रंग की साडी और एक चाबी मिली. इस चाबी ने ही पुलिस को आरोपी को पकडऩे में मदद की. यह घटना अजनी थानांतर्गत हुई. पुलिस को खबर मिली कि मेडिकल हॉस्पिटल के धोबीघाट झाडिय़ों में एक अज्ञात व्यक्ति ने अज्ञात कारण कोल केर अज्ञात वस्तु से वार किया तथा चेहरा विक्षिप्त कर सबूत नष्ट करने का प्रयास किया. घटनास्थल के पास से पुलिस ने एक गुलाबी रंग की साडी तथा एक चाबी बरामद की. इस मामले में अजनी पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर मामले की जांच शुरू की. प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतका धोबीघाट की झाडिय़ों में नग्नावस्था में तथा चेहरे पर धारदार हथियार से वार करने के बाद उसे नग्नावस्था में फेंक दिया. पुलिस ने लाश का मुआयना करने के बाद मामले की जांच शुरू की. जांच के तहत पुलिस सिपाही वनिता मोटघरे ने बताया कि आरोपी मेडिकल के मच्र्युरी (चीरघर) में पोस्टमार्टम का काम करनेवाले एक व्यक्ति के खिलाफ कुछ दिन पूर्व थाने में उसकी पत्नी ने एक महिला के साथ नाजायज संबंध होने की शिकायत दर्ज की थी. इस आधार पर जांच दल ने आरोपी की खोज शुरू की. साथ ही घटनास्थल पर मृतका के समीप एक ताले की चाबी मिली थी. उक्त दोनों बातों पर गौर करते हुए पुलिस इस नतीजे पर पहुंची कि आरोपी मेडिकल के मच्र्युरी में पोस्टमार्टम का काम करनेवाला व्यक्ति है. बरामद की गई चाबी मृतका के भांडेवाड़ी, कलमना स्थित बंद घर के ताले लग गई. ताला खुलने के हत्या का पर्दाफाश हो गया. मृतका का नाम अर्चना अनिलराव भगत (35) है. उसके आरोपी बालाजी नगर, मानेवाड़ा निवासी गुरुदयाल राजमन पाठक (50) के साथ गत दो वर्ष से नाजायज संबंध थे. इस नाजायज संबंधों की जानकारी आरोपी के पत्नी को पता चलने के बाद उनमें अक्सर विवाद होने लगा. इस बात से त्रस्त होकर आरोपी ने शुक्रवार को मृतक अर्चना को मिलने के लिए बुलाया और उसका गला रेत कर चेहरे की चमड़ी छिलकर सबूत नष्ट करने का प्रयास किया. पुलिस को जांच के दौरान प्रथम दृष्ट्या यह बात सामने आयी. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. उक्त घटना की जानकारी पुलिस ने पत्र-परिषद में दी. मामला संवेदनशील होने तथा महिला से संबंधित होने के कारण पुलिस ने अपनी कुशलता का परिचय देते हुए महज चार घंटे में आरोपी को गिरफ्तार कर मामले का पर्दाफाश किया. यह कार्रवाई सह पुलिस आयुक्त शिवाजी बोडख़े, दक्षिण विभाग के अपर पुलिस आयुक्त, पुलिस उपायुक्त श्यामराव दिघावकर, अपर पुलिस उपायुक्त (डिटेक्शन) रविंद्र सिंह परदेसी, सहायक पुलिस आयोक्त संभाजी कदम, अपराध शाखा के सोमनाथ वाघचौरे, के.एल. सुपारे के मार्गदर्शन में वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक शैलेष संघे, भारत क्षिरसागर, सहायक पुलिस निरीक्षक अतुलकर धोबे तथा अपराध शाखा ने संयुक्त रूप से की.



add like button Service und Garantie

Leave Your Comments

Other News Today